5 Most Interesting Facts About Mahabharat (2021)

5 Most Interesting Facts About Mahabharat

हेलो दोस्तों आप में से बहुत से लोग महाभारत के बारे में जानते होंगे और कभी ना कभी आपने भी Google पर सर्च किया होगा What are some mind blowing facts about Mahabharat? तो आज हम आपको 5 Most Interesting Facts About Mahabharat के बारे में बताएँगे।

यकीनन ये Interesting Facts आपने पहले कहीं नहीं सुने होंगे हम आशा करते हैं आपको यह Most Interesting Facts About Mahabharat पसंद आएंगे। महाभारत को युगों-युगों से बताया और दोहराया गया है और हज़ारों वर्षों के दौरान यकीनन इसकी वास्तविकता के थोड़ा बहुत फेर बदल ज़रूर हुआ होगा। फिर भी इसे सटीकता के साथ संकलित किया गया है और अब डिजिटल माध्यम से कई बार बताया गया है। फिर भी, महाभारत से कई कम ज्ञात तथ्य हैं जिन्हें जानकर आप चकित रह जाएंगे।

भारत के 2 मुख्य ग्रंथों में से एक महाभारत प्राचीन काल का एक सबसे बड़ा युद्ध था और अब यह एक ऐतिहासिक गाथा है। जिसमे युद्ध, राजनीति, नैतिक, और धर्म के तत्व शामिल हैं। इस युद्ध में भाग लेके वाले योद्धा एक से बढ़कर एक शूरवीर महावीर योद्धा थे। इस युद्ध में ऐसे ऐसे महाशक्तिशाली योद्धाओं ने भाग लिए जो अपराजय माने जाते थे। महाभारत में बहुत से महाशक्तिशाली हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया था, लेकिन हमारे मन में यह सवाल हमेशा से उठता ही रहता है की ये इतने महान योद्धाओं में से सबसे शक्तिशाली योद्धा कौन था। तो चलिए आज जानते हैं महाभारत के कुछ Most Interesting Facts और देखते हैं कौन थे वो महान योद्धा।


1. दुर्योधन – दुर्योधन कौरवों में सबसे बड़े भाई थे और एक बहुत बड़े योद्धा भी थे जिनको गदा चलाने की कला में महारथ हासिल थी असल में उस ज़माने में वो गदा चलाने वाले योद्धाओ में सबसे सर्वश्रेष्ठ थे। दुर्योधन के पास गजब की शाररिक शक्ति थी और छोटी मोटी चोटों का उनपर कोई असर नहीं होता था। कहते हैं की दुर्योधन में 1000 आदमियों की शक्ति थी। दुर्योधन ने अपनी युद्ध कला उनके गुरु द्रोणाचार्य और कृपाचार्य से सीखी थी जिसे बाद उन्होंने बलराम से गदा चलाने की कला सीखी।

2. भीष्म – भीष्म को हराना असंभव था क्योंकि उन्हें वरदान मिला था की उनकी जान उनकी इच्छा के बगैर नहीं ली जा सकती। युद्ध के 10 दिन बीत जाने के बाद पांडव समझ चुके थे की भीष्म को हराना असंभव है। भीष्म ने महाऋषि परशुराम को भी हराया था जो की विष्णु के अवतार थे। तब शिखंडी को आगे करके अर्जुन के भीष्म पर अनेकों बाण चलाए और भीष्म तीरों के बिस्तर में फंस गए तब उनकी अपनी मर्ज़ी से उन्होंने अपना जीवन त्याग दिया।

3. कर्ण – दानवीर कर्ण को उनके कवच और कुंडल के साथ कभी भी हराया नहीं जा सकता था। इसलिए श्रीकृष्ण ने इंद्र के साथ मिलकर छल कर्ण के कवच और कुंडल का त्याग करवाया लेकिन उसके बाद भी कर्ण से युद्ध में जीतना बहुत मुश्किल था। जब कर्ण का रथ गड्ढे में फंसा तब छल से अर्जुन के कर्ण का वध किया। कर्ण को वरदान मिला था की उसके कवच और कुंडल को दुनिया का कोई भी अस्त्र नहीं भेद सकता।

4. द्रोणाचार्य – कौरवों और पांडवों के गुरु द्रोणाचार्य ने दोनों तरफ के योद्धओं को ज्ञान दिया था। द्रोणाचार्य के पास हर शस्त्र को चलाने का ज्ञान था इसमें नारायणास्त्र, ब्रह्मास्त्र और पाशुपतास्त्र भी शामिल है। वैसे तो गुरु द्रोणाचार्य को सीधे पराजित नहीं किया जा सकता था तब श्रीकृष्ण ने भीम से कहकर एक अश्वत्थामा नाम के हाथी को मरवा दिया और हर तरफ़ ख़बर फैला दी की अश्वत्थामा मारा गया और यह सुनकर द्रोणाचार्य ने हथियार डाल दिए और तब दृष्टुमन ने छल से द्रोणाचार्य का वध कर दिया।

5. श्रीकृष्ण – महाभारत के सबसे शक्तिशाली योद्धा श्रीकृष्ण भगवान् विष्णु के अवतार थे और उन्होंने कोई भी अस्त्र महाभारत के युद्ध में इस्तेमाल नहीं किया सिर्फ अपनी रणनीतियों से इतने महान योद्धाओं को मात दे पाए अगर कृष्ण अस्त्र उठा लेते तो सिर्फ अपने सुदर्शन चक्र से कौरवों की पूरी सेना का विनाश कर देते क्योंकि कृष्ण के सामने कोई भी योद्धा अमर नहीं था महाभारत के युद्ध में श्रीकृष्ण ने अर्जुन को अपना विराट रूप दिखाया था की सारी सृष्टि एक ही बिंदु से बंधी हुयी है कृष्ण ने यह भी कहा था की जब भी सृष्टि में धर्म की हानि होती हैं वह अधर्म का विनाश करने के लिए धरती पर आते हैं और भविष्य में भी आते रहेंगे।


ये थे महाभारत के कुछ Most Interesting Facts और ऐसी ही Interesting Facts, Hindi Story, True Horror Stories, Motivational Story In Hindi, Hindi Novel, Moral Stories for Kids In Hindi आपको हमारी वेबसाइट पर देखने को मिल जाएंगी। हिंदीलिख वेबसाइट ऐसी ही कहानियों का बहुत बड़ा संग्रह है जहाँ सिर्फ बच्चों के मनोरंजन की कहानियां बल्कि ऐसे Interesting Facts भी मिलेंगे जो आम तौर पर लोग नहीं जानते हैं।