The Annabelle Doll Real Story In Hindi | एक श्रापित गुडिया

The Annabelle Doll Real Story In Hindi – मनुष्य को ऐसी चीजें हमेशा से ही पसंद आती हैं जिनमें किसी तरह के रहस्य या डर की अनुभूति हो। यही डर और रहस्यों के जवाब तलाशने की चाह इंसान को और भी नए-नए रहस्यों के करीब ले जाती है। हमारी आज की ये कहानी उन लोगों के लिए खासा दिलचस्प होने वाली है जो लोग इस डर और रहस्य की अनुभूति पसंद करते हैं या यूं कहें कि जो लोग डर रहस्य और पैरानॉर्मल घटनाओं से जुड़ी बातों में रुचि रखते हैं।

आज हम आपको एक ऐसी डरावनी गुड़िया के बारे में बताने वाले हैं जिसे इतिहास की सबसे डरावनी और शापित शापित वस्तुओं का दर्जा मिला हुआ है। Annabelle Doll की वास्तविकता की कहानी पर आधारित हॉलीवुड फिल्में भी बन चुकी है अभी तक तो आप समझ चुके होंगे आज हम बात करने वाले हैं “The Annabelle Doll” की तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं आज की ये Horror Story In Hindi और जानते हैं कि आखिर वे कौन सी घटनाएं थी जिनके कारण “The Annabelle Doll” को इतना रहस्य्मयी और शापित माना जाता है।

The Annabelle Doll Real Story In Hindi

बात है 1970 की जब एक महिला ने अपनी बेटी को गिफ्ट में एक डॉल दी। उस महिला की बेटी का नाम था डौना। डौना को डॉल्स के साथ खेलना बेहद पसंद था और उसके पास तरह-तरह की डॉल्स का एक अच्छा ख़ासा कलेक्शन था। यूँ तो डौना एक टीन एजर थी लेकिन उसका डॉल्स के साथ लगाओ किसी बच्चे जैसा थी था

डौना ने अपनी इस नयी डॉल का नाम का नाम The Annabelle Doll रखा। डौना उन दिनों नर्स की पढ़ाई कर रही थी और अपनी एक दोस्त एंजी के साथ एक अपार्टमेंट में रहती थी। उस डॉल को अपार्टमेंट में ले जाने के कुछ ही दिन बाद से डौना को कुछ अजीब सा एहसास होने लगा।

डौना कॉलेज जाने से पहले उस डॉल को जिस पोजीशन में रख कर जाती थी कॉलेज से वापस आने के बाद उसे बिल्कुल ही अलग अवस्था में पाती थी। डौना कॉलेज जाते वक्त अगर एनाबेल डॉल को अपने बेडरूम के बेड पर छोड़कर जाती थी तो वापस आने पर वो डॉल सोफ़े पर पड़ी मिलती थी।

शुरुवात मे डौनां और उसकी दोस्त एंजी ने इन अकल्पनीय घटनाओं को नजरअंदाज किया लेकिन एक दिन जब कॉलेज से वापस आने पर डौना को एनाबेल डॉल के हाथ में एक कागज की पर्ची मिली तो डौना और एंजी दोनों ही बहुत डर गए। उस पर्ची पर लिखा था “Help Me” डौना और एंजी को पहली बार इस गुड़िया में कुछ नकारात्मक शक्ति के होने का एहसास हुआ लेकिन फिर भी इस घटना को कोई मजाक समझ कर डौना ने इसे नजरअंदाज कर दिया।

यह भी देखें:- The conjuring 3 Real Story। Hindi Horror Story

उसी बीच इसी बीच डौना और एंजी के साथ रहने के लिए उनका एक और दोस्त लू भी उस अपार्टमेंट में रहने लगा और एक दिन जब डौना घर पर पहुंची तो उसने देखा कि एनाबेल पर खून के निशान थे इसे देखकर वे तीनों बहुत डर गए और उन्हें लगा की ये ज़रूर कोई पैरानॉर्मल घटना है। इसी के चलते उन्होंने किसी “Paranormal Investigator” की मदद लेने का फैसला किया।

उन्होंने पास ही के एक Paranormal Investigator और प्रीस्ट को बुलवाया और उन दोनों ने एनाबेल की जांच करके इस बात की पुष्टि की उस गुड़िया में आत्मा का वास है और उनको तब भी प्रीस्ट की बातों पर विश्वास नहीं हुआ। एक रात लू अपने रूम में गहरी नींद में सो रहा था तभी उसकी आंखें खुली और वह बेचैन होने लगा क्योंकि वह अपने पैरों को हिला नहीं पा रहा था जब उसने अपने पैरों की तरफ देखा तो वहां एनाबेल डॉल थी और लू की तरफ बढ़ रही थी।

यह देखकर लू बेहोश हो गया जब उसे होश आया तो वो समझ नहीं पाया कि उसने यह सपना देखा था या रात में वो घटना कोई हकीकत थी। उस दिन घर में लू और एंजी अकेले थे और रात में हुई इस घटना पर चर्चा कर रहे थे तभी डौना के रूम से बेहद डरावनी चीखों की आवाज आने लगी। यह आवाज बहुत तेज थी जिसकी वजह से पूरा अपार्टमेंट जाग गया। लू जैसे-तैसे हिम्मत बांध कर डौना के रूम में गया और कमरे में घुसते ही उसे वहां एनाबेल डॉल दिखाई दी लेकिन उस डॉल के अलावा वहां और कोई नहीं था।

लू को महसूस हुआ कि शायद उसके पीछे कोई है उसने पीछे मुडकर देखा तो वहां नहीं था लेकिन जैसे ही लू ने फिर से मुड़कर एनाबेल की तरफ देखा तो लू को ऐसा महसूस होने लगा कि मानो उसकी छाती को किसी ने जोर से पकड़ लिया हो और उसे असहनीय दर्द होने लगा। लू घबराकर वहां से भाग खड़ा हुआ लेकिन तब तक लू की टीशर्ट खून से लतपथ हो चुकी थी और उसकी छाती पर साफ़ पंजों के निशान थे।

इन निशानों को देखकर ऐसा लग रहा था की मानो किसी ने लोहे के गर्म पंजों से लू पर वार कर दिया हो लेकिन उस से भी रहस्यमयी और चौंकाने वाली बात यह थी कि लू के ये जख्म थोड़ी ही देर में भरने लगे और अगली शाम तक पूरी तरह से गायब हो गए इस घटना के तुरंत बाद डौना और उसके दोस्तों ने वहां के एक बहुचर्चित चर्च के पादरी को बुलाया लेकिन उस पादरी ने घर में घुसते ही वहां पर किसी भी तरह का अनुष्ठान करने से इनकार कर दिया इंकार कर दिया और डौना और उसके फ्रेंड को सलाह दी इस काम के लिए किसी बड़े पादरी को बुलाया जाए।

जिसके बाद एनाबेल डॉल के प्रकोप से बचने के लिए फादर कुक को बुलाया गया जो की एक बहुत जाने-माने पादरी थे। फादर कुक के अनुसार यह कोई होली स्पिरिट नहीं बल्कि एक इविल स्पिरिट थी। जिसका मकसद डौना के शरीर पर कब्जा करना था। एनाबेल डॉल के अंदर जो आत्मा थी वह कितनी खतरनाक थी इस बात का अंदाजा इस बात से भी लगा सकते हैं की फादर कुक जैसे पारंगत व्यक्ति ने यह बात खुद मानी के एनाबेल डॉल के अंदर जो आत्मा है वो बेहद शक्तिशाली है और वो अकेले उसका सामना नहीं कर सकते।

यह भी देखें:-  हॉस्पिटल की रहस्यमयी भूतिया घटना। Hindi Horror Story

इसी वजह से उन्होंने उस समय के मशहूर Paranormal Investigator “Ed and Lorraine Warren” को बुलाने का फैसला किया Ed and Lorraine Warren और फादर कुक की पूरी कोशिशों के बावजूद भी वह लोग उस गुड़िया को उस आत्मा से मुक्त नहीं करा पाए जिसके बाद Ed and Lorraine ने डौना से इस गुड़िया को ले लिया और उसे अपने साथ ले जाने का फैसला किया।

जब वह दोनों उस डॉल को लेकर अपनी कार में जा रहे थे तभी अचानक उनकी गाड़ी के ब्रेक ने काम करना बंद कर दिया और उन दोनों को उनकी कार में एक अजीब सी दुर्गन्ध और तपिश महसूस होने लगी Ed and Lorraine तुरंत समझ गए कि यह उस आत्मा का काम है। उन्होंने उस पर हौली वाटर छिड़का तब जाकर हालात काबू में हुए।

Ed and Lorraine Warren के घर पर एनाबेल की विचित्र और रहस्मयी गतिविधियों का सिलसिला बदस्तूर जारी रहा।एक बार इस डॉल देखने के लिए Ed and Lorraine के घर एक पादरी आए उन्होंने जब एक डॉल को देखा तो उसका मजाक उड़ाते हुए कहा की यह तो सिर्फ गुड़िया है यह किसी का नुकसान नहीं पहुंचा सकती।

Ed and Lorraine ने तुंरत उस पादरी को कहा की उनसे इस डॉल के बारे में ऐसा नहीं बोलना चाहिए था। पादरी को उसकी कार तक छोड़ने जाते वक्त Ed ने उन्हें सलाह दी कि वे ध्यान से घर जाए और पहुंचकर उन्हें इत्तला कर दे। उस पादरी के वहां से निकलने के महज कुछ घंटे बाद ही Ed and Lorraine को यह खबर मिली कि उस पादरी की एक रोड एक्सीडेंट में जान चली गई है।

Annabelle Doll Mysteries At The Museum

इस किस्से के कुछ दिन बाद Ed and Lorraine ने इस डॉल को लकड़ी के बॉक्स में बंद करवा कर यूएसए के “The Warrens Occult Museum” में रखवा दिया लेकिन उसके बाद भी इस रहस्यमय डॉल के कारण होने वाली घटनाओं का सिलसिला नहीं थमा।

एक बार म्यूजियम में आए कपल ने एनाबेल डॉल की तस्वीर लेते वक्त उसका मजाक उड़ाया शायद यह बात एनाबेल को नागवार गुजरी क्योंकि म्युसियम से घर जाते वक्त उन दोनों का एक्सीडेंट हो गया और उसका कपल में से लड़के की मौत हो गई और लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई और तभी से इस डॉल को सबसे शापित और हॉन्टेड डॉल कहा जाने लगा।

यदि कोई इस डॉल के आसपास होने के समय कोई ऐसा आचरण प्रदर्शित करता है जो इस डॉल को नागवार गुजरे तो उस व्यक्ति के साथ कुछ अनहोनी होना तय है। आप इसे महज इत्तेफाक या अफ़वाह भी मान सकते हैं लेकिन एनाबेल डॉल से जुड़ी रहस्यमई घटनाएं इंटरनेट से प्राप्त कर सकते हैं। जो इस बात की गवाह है कि एनाबेल कोई अफवाह नहीं एक संपूर्ण सच है।


आपको हमारी बताई गयी आज की ये Annabelle Doll Real Story यकीनन आपको पसंद आयी होगी। हिंदीलिख वेबसाइट पर आपको ऐसी ही True Horror Stories, Real Life Scary Stories, True Horror Story in Hindi, Real Ghost Stories In Hindi आपको मिलेंगी और इसके साथ ही आपको ऐसी ही Interesting Facts, Hindi Kahaniyan , Motivational Story In Hindi, Hindi novelMoral Stories for Kids In Hindi

आपको हमारी वेबसाइट पर देखने को मिल जाएंगी। हिंदीलिख वेबसाइट ऐसी ही कहानियों का बहुत बड़ा संग्रह है जहाँ सिर्फ बच्चों के मनोरंजन की कहानियां बल्कि ऐसे Interesting Facts भी मिलेंगे जो आम तौर पर लोग नहीं जानते हैं।

Leave a Comment