True Horror Story In Hindi – 200 आत्माओं वाला घर

True Horror Story In Hindi

True Horror Story In Hindi – हेलो दोस्तों भूत प्रेत और आत्माओं के अस्तित्व का होना किसी व्यक्ति विशेष के विश्वास पर निर्भर करता है। बहुत से लोगों का मानना है कि भूत जैसी कोई चीज नहीं होती वहीं बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो कहते हैं कि भूत और आत्मा होती हैं और कुछ लोगों का तो यहां तक मानना है कि उन लोगों ने स्वयं अपनी आंखों से इस तरह की घटनाओं को देखा है।

यह एक ऐसा विषय है जिसके बारे में आज का विज्ञान भी बहुत कुछ नहीं जानता विज्ञान ना तो आज तक इन बातों का खंडन कर पाया है और ना ही ऐसे कोई सबूत इकट्ठा कर पाया है जिनसे सुपरनैचुरल पावर के होने के दावे को पुख्ता किया जा सके।

आज हम आपको एक ऐसी ही Real Ghost Story In Hindi के बारे में बताने वाले हैं जिसे सुनकर आप लोग खुद इस बारे में सोचने पर मजबूर हो जाएंगे की क्या वाकई भूत और आत्मा होती है तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं आज True Horror Story In Hindi.

बात है नवंबर 2011 की जब “नटोया ऍमएस” नाम की एक महिला अपने तीन बच्चों के साथ केरोलाइना स्टेट पर स्थित किराए के घर में रहने आई। शुरुआत से ही यह घर नटोया को कुछ कुछ खास पसंद नहीं था लेकिन परिवार की माली हालत ठीक ना होने के कारण उन्होंने इसी घर में रहने का फैसला किया और कुछ दिन बाद से ही एक के बाद एक सिलसिलेवार पर घटनाओं ने पर उन्होंने और उनके परिवार के जीवन में एक तूफान खड़ा कर दिया।

दिसंबर 2011 में नटोया की फैमेली का पहली घटना से सामना हुआ जब “बिग ब्लैक फ्लाई” ने नटोया के घर पर हमला बोल दिया। उनके घर में एक साथ लाखों बिग ब्लैक फ्लाई घुस आयी सबसे हैरान करने वाली बात यह थी की दिसंबर की उस कड़कड़ाती इन फ्लाई मिलना लगभग असंभव होता है क्योंकि ये फ्लाई सर्दियों में किसी गरम जगह पर चली जाती हैं। इस मौसम में होना किसी अजूबे से कम नहीं था।

नटोया ने अपने इंटरव्यू के बताया की उन्हें कई बार घर के बेसमेंट के पास किसी के कदमों की आवाज सुनाई देती थी इन आवाज़ों से तंग आकर उन्हों बेसमेंट तक जाने वाले रास्ते को भी ब्लॉक कर दिया था लेकिन फिर भी उन क़दमों की आवाज़ का आना बंद नहीं हुआ।

एक रात नटोया की मां को को किसी अनजान आदमी का धुंधला साया नजर आया लेकिन जब उन्होंने इस साये का पीछा करने की कोशिश की तो वहां किसी आदमी के जूतों के निशान के अलावा और कुछ नहीं मिला। 10 मार्च 2012 की इस घटना के बाद नटोया की फैमिली का डर विश्वाश में बदल गया और उन लोगों को विश्वास हो गया कि उनके घर में किसी न किसी शैतानी आत्मा का साया है लेकिन पूरा सच सामने आना भी बाकी था।

उस रात तकरीबन 2:00 बजे नटोया और उनकी मां को उनकी बेटी के रूम से किसी के चिल्लाने की आवाज आई जब वो दोनों उनकी बेटी के रूम में पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर उन दोनों के होश उड़ गए। नटोया की 12 साल की बेटी बेहोश हालत में हवा में लटकी हुई थी जिसे देख कर देखकर नटोया और उनकी मां बुरी तरह से डर गई।

यह भी देखें:- वैम्पायर की रहस्यम घटनाएं

कुछ देर बाद जब उस बच्ची को होश आया तो उसे कुछ भी याद नहीं था नटोया और उनके परिवार ने किसी की मदद लेने का फैसला किया। उन्होंने पास के एक चर्च के पादरी को अपनी आप बीती बताई लेकिन उस पादरी ने उनकी मदद करने से इनकार कर दिया क्योंकि वह पादरी उस उस घर के इतिहास से वाकिफ था और उसका डर उसे नटोया की कोई भी मदद करने से रोक रहा था।

हालांकि उस पादरी ने उन्हें बताया कि वह लोग रह रहे हैं वहां एक दो नहीं बल्कि 200 से ज्यादा प्रेत आत्माएं हैं और यह बात सुनकर नटोया के होश उड़ गए। पादरी ने कहा कि उनको वो घर जल्द से जल्द खाली कर देना चाहिए लेकिन नटोया की माली हालत ठीक ना होने के कारण वह ऐसा नहीं कर सकती थी।

कुछ ही दिन बाद नटोया के तीनों बच्चों के शरीर आत्म प्रवेश करने लगी ऐसा होने पर उन बच्चों की आवाज़ भारी हो जाती थी और उनके चेहरे पर एक डरावनी मुस्कान दिखाई देती थी। उनके परिवार के लिए कुछ रातें इतनी ज़्यादा डरावनी होती थी की उनको रात गुजारने के लिए किसी होटल में ठहरना पढ़ता था।

इन दुष्ट आत्माओं का साया उन बच्चों पर कुछ इस तरह हावी हो चुका था कि कई बार उनको हॉस्पिटल ले जाना पड़ता था और हॉस्पिटल का स्टाफ और डॉक्टर्स भी इन पैरानॉर्मल घटनाओं को देखकर दंग थे। नटोया का 9 साल का बेटा अचानक अजीब हरकतें करने लगा और अचानक उल्टा चलते हुए हॉस्पिटल के कमरे की दीवार पर चढ गया और फिर कमरे की छत पर उल्टा चलने लगा। इस घटना के दौरान हॉस्पिटल का स्टाफ भी मौजूद था।

हॉस्पिटल के स्टाफ ने पुलिस को दी गवाही में भी इस बात की पुष्टि की कि उनके सामने ऐसा हुआ था और वह लोग खुद भी यह सब देखकर सकते में आ गए थे। इस घटना के बाद सभी को यह विश्वास हो गया कि वह बच्चे रनिंग पोजीशन का शिकार हो चुके थे और उसके बाद से पुलिस हॉस्पिटल और चर्च के लोगों ने नटोया और उनकी फैमिली की मदद करने का फैसला किया ,

चर्च के पादरी ने नटोया के घर जा जाकर बच्चों पर एक्सज़ोरसीएम की क्रिया को संपन्न किया ऐसा माना जाता है कि एक्सज़ोरसीएम प्रक्रिया के करने से पीड़ित को भूत प्रेत और दुष्ट आत्माओं से छुटकारा मिल जाता है इस क्रिया के संपन्न होने के कुछ दिनों बाद उस पादरी की तबीयत खराब होने लगी और उस पादरी ने यह माना कि उस घर पर की गई एक्सज़ोरसीएम क्रिया के बाद से ही उनका यह हाल हुआ है और में रहने वाली आत्माओं से उलझने का दुष्परिणाम उसको झेलना ही पड़ेगा।

धीरे-धीरे एक-एक करके नटोया के परिवार को उन 200 आत्माओं से छूटकारा दिलाया गया लेकिन इस घर से जुड़ी दहशत भरी यादें नटोया को हमेशा परेशान करती थी और फिर सरकार की मदद से नटोया की फैमिली को दूसरे घर में विस्थापित किया गया।

इस घर के 200 वाली बात इतनी ज्यादा मशहूर हो चुकी थी कि आसपास के घरों के लोग भी हमेशा डरे सहमे रहते थे जिसके कारण सरकार ने इस घर को निश्तनाबूत करने का फैसला किया और 6 महीने बाद इस घर को गिरा दिया गया।


आपको हमारी बताई गयी आज की ये True Horror Story In Hindi यकीनन आपको पसंद आयी होगी और आपको भी ये सोचने पर मजबूर कर दिया होगा की क्या सच में वैम्पायर होते हैं। हिंदीलिख वेबसाइट पर आपको ऐसी ही Creepy True Stories, Real Life Scary Stories, True Horror Story in Hindi, Real Ghost Stories In Hindi आपको मिलेंगी और इसके साथ ही आपको ऐसी ही Interesting Facts, Hindi Story, Motivational Story In Hindi, Hindi novelMoral Stories for Kids In Hindi

आपको हमारी वेबसाइट पर देखने को मिल जाएंगी। हिंदीलिख वेबसाइट ऐसी ही कहानियों का बहुत बड़ा संग्रह है जहाँ सिर्फ बच्चों के मनोरंजन की कहानियां बल्कि ऐसे Interesting Facts भी मिलेंगे जो आम तौर पर लोग नहीं जानते हैं।

1 thought on “True Horror Story In Hindi – 200 आत्माओं वाला घर”

Leave a Comment