True Horror Story in Hindi | Hindi Kahani

True Horror Story in Hindi

Hello doston agar aap Real Horror Story In Hindi search kar rahe hain to swagat hai aapka hamari is post mein. Aaj hum aapke liye lekar aaye hain Gurgaon ki ek True Horror Story in Hindi jo aapko zaroor achambhit kar degi aur sochne pe majboor kar degi, ki is duniya mein kuch anjaani andekhi cheezein maujood hain jo ek aam insaani dimaag ki soch ke bhi pare hain to chaliye shuru karte hain aaj ki True Horror Story in Hindi aur dekhte hain kya hua us raat…

True Horror Story in Hindi 

इतिहास में हज़ारों ऐसे किस्से मौजूद है जहाँ कोई व्यक्ति बहुत रहस्यमयी तरीके से गायब हो गया हो | अमूमन ऐसी घटनाओं में कोई जीवित व्यक्ति किन्ही अज्ञात कारणों से गायब हो जाता है और फिर कभी नहीं लौटता, और ना ही उस व्यक्ति कोई सुराग मिलता है लेकिन क्या हो जब गायब होने वाला व्यक्ति ज़िंदा ही न हो और ज़िंदा ना होते हुए भी लोगों को दिखता हो और की अचानक उसके गायब हो जाने के बाद लोगों को पता चले की वो जो व्यक्ति गायब हुआ वो तो वास्तव में कभी था ही नहीं | आज की हमारी Ghost Story In Hindi भी ऐसी ही एक घटना के बारे में है जो की इतनी पेचीदा है जिसको सुलझा पाना किसी के बस की बात नहीं है |

True Horror Story in Hindi | Hindi Kahani
True Horror Story in Hindi | Hindi Kahani

ये घटना है पांडवों के गुरु द्रोणाचार्य के गाओ माने जाने वाले गुड़गाव की जिसे अब गुरुग्राम के नाम से भी जाना जाता है | सन 1965 तक ये जगह पंजाब राज्य का हिस्सा हुआ करती थी लेकिन सन 1966 में हरयाणा राज्य का निर्माण हुआ और गुडग़ांव हरयाणा राज्य का हिस्सा बन गया तब से लेके अब तक इस जगह का बेहद तेज़ी से विकास हुआ है | अब यहाँ अनेकों राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कंपनी के दफ़्तर मौजूद है | गुड़गाव की ही है बहुमंज़िला इमारत में मौजूद था एक BPO जिसका नाम था Saffron BPO |

कहा जाता है जिस इमारत में इस BPO का ऑफिस था उस इमारत को एक कब्रिस्तान के ऊपर बनाया गया था और इमारत में काम करने वाले लोगों को कोई न कोई भूतिया घटना का सामना करना पड़ता था इसी कारण इस इमारत के आस पास के इलाके को भूतिया कहा जाने लगा | Saffron BPO नाम की इस कंपनी में रोज़ नाम की एक लड़की काम करती थी जिसे 2015 में नौकरी पर रखा गया था | बताया जाता है रोज़ एक बेहद प्रतिभाशाली लड़की थी और काम करने की अपनी लगन और दूसरों की मदद करने के अपनी स्वभाव के कारण वह शुरुवात से ही ऑफिस में चर्चित थी | यहाँ काम करते कर्मचारी समय समय पर अपने साथ होने वाली भूतिया घटनाओं के बातें करते रहते थे | कभी इस इमारत की लिफ़्ट में लोगों की ऐसा लगता था की उनके पीछे कोई खड़ा है तो कभी लोगों को इमारत की ऊँची ऊँची खिड़कियों पे कोई व्यक्ति लटका हुआ दिखाई देता था |

ऐसी ही कई घटनाओं के कारण रात ही शिफ्ट में काम करने वाले कर्मचारीयों के बीच हमेशा ही डर का माहोल रहता था लेकिन इसके विपरीत रोज़ हमेश ही बेहद खुश और निर्भय दिखाई देती थी |

एक रात ऑफिस हॉर्स खतम होने के चंद मिनट पहले ही रोज़ को एक इनबाउंड कॉल मिला | अमूमन इनबाउंड कॉल 5 से 10 मिनट की अवधि की ही रहती है जहाँ कस्टमर कॉल पर सलाह मशवरा करते है लेकिन इस कॉल को 15 मिनट बीत चुके थे पर फिर भी रोज़ अभी भी कॉल पर ही थी | जैसे जैसे समय बीत रहा था रोज़ के साथ कैब में जाने वाले लोग चिंतित हो रहे थे लेकिन रोज़ कॉल को नहीं काट नहीं थी | कॉल पर बात करते करते रोज़ के हाव भाव में बदलाव आने लगा मानो कॉल पर मौजूद दूसरी तरफ का व्यक्ति रोज़ को अपने बस में कर रहा हो जब कॉल को 40 मिनट से भी ज्यादा हो गया तो उसके एक अन्य साथी ने कॉल को अपने पास ट्रांसफर कर लिया लेकिन वो ये जान कर बेहद हैरान हुआ की कॉल पर दूसरी तरफ कोई था ही नहीं वो कॉल बहुत पहले ही कट चूका था |

तो क्या रोज़ इतनी देर से खुद से ही बात कर रही थी ये एक ऐसा सवाल था जो वहाँ मौजूद लोगो के मन में उमड़ रहा था लेकिन किसी ने किसी से कुछ नहीं कहा और सब गाड़ी में बैठ कर अपने अपने घरों की और निकल गए | उस रात पूरे रास्ते रोज़ ने किसी से बात नहीं की वो चुपचाप अपनी सीट पर बैठ कर रास्ते की तरफ देखती रही कुछ ही देर में रोज़ का स्टॉप आया और वो अपने घर की ओर चली गयी लेकिन अगली सुबह रोज़ ऑफिस नहीं आयी और देखते ही देखते दिन हफ़्तों में बदल गए लेकिन रोज़ वापिस कभी ऑफिस नहीं आयी |

ऑफिस में रोज़ के साथ काम करने वाले लोगों ने रोज़ के बारे में पता लगाने का फैसला किया और जब वो ऑफिस में रजिस्टर रोज़ के घर के पते पर पहुंचे तो घर के मालिक की बातें सुनकर हैरान रह गए | घर के मालिक ने बताया की उस पते पर रोज़ नाम की कोई लड़की कभी रहती ही नहीं थी रोज़ के दोस्तों को इस बात पर यकीन ही नहीं हो रहा था क्युकी लगभग 6 महीनो से वो लोग रोज़ को उसी घर के गेट से पिक किया करते थे और रात को ऑफिस से लौटते वक़्त कैब से वो लोग रोज़ को उसी घर के गेट पर छोड़ते थे | रोज़ के दोस्तों और कंपनी की कुछ अन्य लोगों ने मिलकर रोज़ की गुमशुदगी की सघन जांच करने का फैसला किया | रोज़ के द्वारा कंपनी में दिए डाक्यूमेंट्स से उसके परमानेंट पते को ख़ोज निकाला जहाँ रोज़ के माता पिता रहा करते है |

जब रोज़ की कंपनी के लोग उसके घर पहुंचे और उसके माता पिता से बात की तो वहाँ मौजूद अभी लोगों के पैरों के नीचे से ज़मीन निकल गयी | रोज़ के पिता ने बताया तो 4 साल पहले ही मर चुकी है, 4 साल पहले ही सड़क दुर्घटना में रोज़ की जान जा चुकी है लोगों को अब भी रोज़ के पिता की बात पर भरोसा नहीं हो पा रहा था क्युकी दिमाग ये मानने से निकार कर रहा था की पिछले 6 महीनों से वे लोग हर दिन एक आत्मा से मिल रहे थे | इस खबर से पूरी कंपनी में सनसनी मचा दी और वहाँ काम करने वाले लोग अब पहले से भी ज्यादा डर के साये में जी रहे थे | उस ऑफिस में भूतिया घटनाओ का सिलसिला बादस्तूर जारी रहा और कुछ ही दिनों के भीतर रोज़ के 2 सबसे करीबी सहेलियों की भी रहस्यमयी तरीके से मौत हो गयी इसके बाद एक एक करके लोगों ने इक कंपनी से इस्तीफा देना शुरू कर दिया और एक समय ऐसा भी आया की रोज़ की आत्मा की दहशत के चलते कंपनी का ऑफिस एक वीराने में तब्दील हो गया |


Hum Aasha Karte Hain Aapko Humari Aaj Ki Ye Horror Story Pasand Aayi Hogi. Agar Aap Aisi Hi True Horror Story in Hindi Padhna Chahtein Hain To Hindilikh Website Ko Bookmark Kar Sakte Hai Ya Website Ko Subscribe Bhi Kar Sakte Hai.

5 thoughts on “True Horror Story in Hindi | Hindi Kahani”

Leave a Comment